RAM NAKHATE

तु नही देखता वही तुझे देखती है |
•••••••••••••••••••••••••••••••••••••
तु नही देखता वही तुझे देखती है |
तु नही चाहता वही तुझे चाहती है ||
देख देखकर प्रेमजाल मे फसाना चाहती है |
तु नही देखता वही तुझे देखती है ||

तेरे देखनेसे वह जल्दी तेरे पास आती है |
मिठी बॉतोंसे तुझे अपना लेती है ||
समय और संपत्ती लूट लेती है |
तु नही देखता वही तुझे देखती है ||

तुझे चिंता मे डूबो देती है यह लडकी |
रातो की निंद चुरा लेती है यह लडकी ||
तुझे जिने नही देती है यह लडकी |
तु नही देखता वही तुझे देखती है ||

तु उसे छोडना जरूर चाहता है |
मगर वो न तुझे जाने देती है ||
तुझे अंदर ही अंदर खॉ जाती है |
तु नही देखता वही तुझे देखती है ||

थोडा समय रह गया है , जिवन मे तेरे बाकी |
समय का उपयोग कर , लगजा कामपर अभी ||
छोड खयॉल लडकी का पढाईपर तु ध्यान दे |
तु नही देखता वही तुझे देखती है ||
                                            - नखाते राम
                                 मो.नं. ९५४५०१३६७९
                                  मांडणी, ता. अहमदपुर,
                                            जि. लातुर.

Aakanksha (sona)


simran254

मराठी चारोळ्या ,Marathi Charolya,  मैत्रीवर मराठी चारोळ्या , Maitrichya Marathi charolya,